बॉस्टन के लिए 2 बजकर 20 मिनट वाली उड़ान ।
जॉन जोन्स न्यूयार्क में था । उसे बोस्टन जाना था , इसलिए वो एयरपोर्ट गया और उसने टिकट खरीद लिया ।

उसकी उड़ान में कुछ मिनटों का समय था इसलिए वो वहाँ पर रखी हुई वज़न मापने की मशीनों की तरफ चला गया ।

वह मशीन पर चढ़ा , अन्दर एक सिक्का डाला और उस मशीन के अन्दर से उसका भाग्यफल निकलकर आया ” आपका नाम जॉन जोन्स है , आपका वजन 188 पौंड है और आप बॉस्टन के लिए 2 बजकर 20 मिनट पर जाने वाली उड़ान पकड़ने वाले हैं । वह भौंचक्का रह गया क्योंकि सारी सूचना सही थी ।

उसे लगा कि इसमें कुछ तिकड़म है , इसलिए वह फिर मशीन पर चढ़ा , दूसरा सिक्का डाला और उसका भाग्यफल निकलकर आया , “ आपका नाम अभी भी जॉन जोन्स है , आपका वजन अभी भी 188 पौंड  है और आप अभी भी बॉस्टन के लिए 2 बजकर 20 मिनट पर जाने वाली उड़ान पकड़ने वाले हैं ।

” अब वह पहले से और अधिक चकित और परेशान हो गया । यह सोचकर कि इसमें कुछ चाल है वह आदमियों के प्रसाधन कक्ष में गया और उसने अपने कपड़े बदल लिये । एक बार फिर वह मशीन पर चढ़ा , उसमें सिक्का डाला और उसका भाग्यफल निकल कर आयाः ” आपका नाम अभी भी जॉन जोन्स है , आपका वजन अभी भी 188 पौंड है – परन्तु आपकी बॉस्टन के लिए 2 बजकर 20 मिनट वालो उड़ान अभी – अभी छूटी है । 😳

” यह कहानी उन लोगों के लिए लिखी गयी हैं जिनकी बॉस्टन के लिए 2 बजकर 20 मिनट वाली उड़ान छूट गयी है अथवा जिन्होंने इसके मंजिल पर पहुंचने से पहले ही चल देने का निश्चय कर लिया । संक्षेप में , ये कहानी उन लोगों के लिए है जो अच्छे जीवन का बहुत सा हिस्सा गंवाते जा रहे हैं । ये आपको उन अतिरिक्त गुणों को पाने में मदद करने के लिए तैयार की गयी है जिन्हें पाने के लिए आपमें पात्रता है और क्षमता है ।

तो दोस्तो ऐसे कामों में अपना कीमती समय बर्बाद मत  करो ।
समय= जिंदगी ” इसलिए जब आप समय बर्बाद करते हो तो आप अपनी जिंदगी बर्बाद करते हो, दूसरी ओर जब आप समय के स्वामी होते है , तो आप अपनी जिंदगी के भी स्वामी होते है ।
आशा करता हूं कि आपको हमारी कहानी अच्छी लगी हो, इसे अपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर करना।

Thank you

Spread the love
  • 3
    Shares
One thought on “जीवन के कुछ और ढंग !”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat