ये लेख थोडा पैसीमिस्टिक है और उदास करने वाला भी. मै आपको इस लेख में किसी के प्यार में पड़ने का एक्जेक्ट प्रोसेस बताऊंगा.

 . क्यों कि आपको “Falling In Love” का प्रोसेस बताते हुए मै रियलिस्टिक रहना चाहता हूँ. हो सकता है कि ये आपको कुछ पैसीमिस्टिक लगे. इस पर्सपेक्टिव का मतलब समझ आता है क्योंकि ऐसे बहुत से कपल है जो प्यार में पड़ते है, शादी करते है फिर लास्ट में सेपरेट हो जाते है. ये दुःख की बात है मगर सच है कि हमारे कल्चर में आजकल डिवोर्स बहुत कॉमन हो गए है. 

मैंने देखा है कि दो साल के इन्शियल लव फेस के बाद लोग अपने पार्टनर के नेचर का दूसरा साइड देखना शुरू कर देते है जो उन्होंने पहले कभी नहीं देखा होता है.

उन्हें ये सोचकर ज्यादा Pain और Hurt होता है कि वे प्यार में कितने अंधे थे. प्यार का नशा जब उतरता हैतो कडवी रियेलिटी नजर आती है जो उन्हें और भी रुड बना देती है. फिर उनके रिश्ते में छोटा सा reason भी जैसे सिंक में बाल मिलना, तकरार की वजह बन जाता है और लोगो के सामने उन्हें झूठ मूठ खुश होने का दिखावा करना पड़ता है. 

मै आपको इस बात का एक सोल्यूशन दे सकता हूँ, “Falling In Love” हर किसी के साथ होता है.

अगर हर कपल को ये रियेलाईज़ है कि वे अपनी किसी एक्टिव चॉइस की वजह से एक दुसरे से जुड़े हुए है तो फिर वे फिर से एक दुसरे को प्यार करना भी सीख सकते है. इस लेख में हमने कहा था कि “Falling In Love” का प्रोसेस एक टेमप्रेरेरी इमोशनल एक्स्पेरियेसं होता है और रियल लव तब तक स्टार्ट नहीं होता जब तक कि इमोशनल ‘ Falling In Love’ प्रोसेस शुरू ना हो जाए.

Fact तो ये है कि हर रिलेशनशिप Different है और इस लेख का मेन Focus ये समझाना है कि Falling In love तो Easy है मगर ” Staying In Love” मुश्किल काम है.

दरअसल ये एक बिलकुल अलग टास्क है. आपको प्यार के रास्ते में हज़ार मुश्किलें मिलेंगी, कई चैलेंजेस आपके सामने आयेंगे मगर आपको गिव अप नहीं करना है.

हर हाल में अपने प्यार के लिए लड़ना होगा. और बेस्ट पार्ट है कि जब आप साथ मिलकर इन हर्डल और ओब्स्टेक्ल्स से बाहर आयेंगे तो आपका रिलेशन और भी स्ट्रांगर होगा.

आशा करता हूं कि आपको हमारा ये लेख अच्छा लगा हो, इसे अपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर करना।

Thank you

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat